Prasar Bharati

“India’s Public Service Broadcaster”

Pageviews

KEY MEMBERS – AB MATHUR, ABHAY KUMAR PADHI, A. RAJAGOPAL, AR SHEIKH, ANIMESH CHAKRABORTY, BB PANDIT, BRIG. RETD. VAM HUSSAIN, CBS MAURYA, CH RANGA RAO,Dr. A. SURYA PRAKASH,DHIRANJAN MALVEY, DK GUPTA, DP SINGH, D RAY, HD RAMLAL, HR SINGH, JAWHAR SIRCAR,K N YADAV,LD MANDLOI, MOHAN SINGH,MUKESH SHARMA, N.A.KHAN,NS GANESAN, OR NIAZEE, P MOHANADOSS,PV Krishnamoorthy, Rafeeq Masoodi,RC BHATNAGAR, RG DASTIDAR,R K BUDHRAJA, R VIDYASAGAR, RAKESH SRIVASTAVA,SK AGGARWAL, S.S.BINDRA, S. RAMACHANDRAN YOGENDER PAL, SHARAD C KHASGIWAL,YUVRAJ BAJAJ. PLEASE JOIN BY FILLING THE FORM GIVEN AT THE BOTTOM.

Wednesday, January 16, 2019

अपने 52वें जन्मदिन के अवसर पर सहायक अभियंता डाॅ. आलोक सक्सेना ने समस्त अंग दान की घोषणा की


केंद्रीय कार्यक्रम निर्माण केंद्र, दूरदर्शन, खेल गांव, नई दिल्ली में सहायक अभियंता एवं देश के जानेमाने प्रयोगधर्मी व्यंग्यकार डाॅ. आलोक सक्सेना ने अपने समस्त अंग एवं ऊतक दान (मृत्यु के बाद) किए जाने की घोषणा की और राष्ट्रीय अंग और ऊतक प्रत्यारोपण संगठन (नोटो) को पूर्ण अधिकार दिया। इस संबंध में उन्होंने कहा कि, ’’व्यंग्यकार समाज की विसंगतियों  और बुराईयों को मिटाने की पहल करता है। एक प्रतिष्ठित राष्ट्रीय व्यंग्यकार होने के नाते मेरा मानना है कि सामान्यतः लोगों के द्वारा अपने अंग और ऊतक दान न देना और मृत्यु के बाद भी बहुत ज्यादा अनावश्यक कर्मकांड की चाह रखना भी बुराईयां हैं।‘‘

’’उन्होंने दिनांक 14 जनवरी, 2019 (मकर संक्रांति) को अपने 52वें जन्मदिन के अवसर पर अपने जीवन से इन बुराईयों को दूर करने की पहल करते हुए सामाजिक घोषणा की है कि, ’मेरी मृत्यु के बाद तत्काल ही मेरे समस्त अंग एवं ऊतक राष्ट्रीय अंग और ऊतक प्रत्यारोपण संगठन (नोटो) के द्वारा जरूरतमंद भारतीयों को अलग-अलग दान कर दिए जाएं और मेरा शव दाह बिना किसी धार्मिक कर्मकांड, पाखंड़ एवं विद्युत शव दाह द्वारा किया जाए और प्राप्त शव राख को सामान्यतः सुविधानुसार कहीं भी किसी भी नदी में (जरूरी नहीं ’गंगा नदी‘ ही हो) विसर्जित या सामान्य बाग-बगीचों, गमलों, खेत-खलिहानों, गमलों इत्यादि में डालकर नष्ट कर दिया जाए।‘‘ 

दिनांक 14 जनवरी, 1967 चंदौसी उत्तर प्रदेश में जन्मे डाॅ. आलोक सक्सेना मूलतः मैनपुरी उत्तर प्रदेश के निवासी हैं। वह पिछले तीन दशक से हिंदी साहित्य की विविध विधाओं में लगातार सक्रिय राष्ट्रीय लेखक हैं। आजकल देशभर की पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से उनकी व्यंग्य विधा में समय-समय पर रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं। उन्होंने बाल साहित्य में भी अपना विशिष्ट योगदान दिया है। उनकी अब तक एक दर्जन से अधिक मौलिक साहित्यिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। उन्हें भारत के माननीय राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा वर्ष-2013 में भारत सरकार का प्रतिष्ठित ’राजीव गांधी राष्ट्रीय ज्ञान-विज्ञान मौलिक पुस्तक लेखन पुरस्कार‘ एवं हाल ही में उन्हें उत्तर प्रदेश के राज्यपाल माननीय श्रीराम नाईक द्वारा उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान का प्रतिष्ठित राष्ट्रीय ’हरिशंकर परसाई पुरस्कार‘ प्राप्त हुआ। अनेक सरकारी व गैर सरकारी प्रतिष्ठित सम्मानों से अलंकृत डाॅ. सक्सेना फिलहाल नई दिल्ली में रहते हैं।

Contributed by :- Er. Alok Saxena
aloksaxena1967@gmail.com

FREE MEDICAL CHECK UP AT MSQ, TRANSIT HOSTEL of VBS,AIR,BORIVALI,MUMBAI













A free medical check up camp was conducted by APEX Group of Hospital on 08.01.2019 between 11AM to 3PM at the Transit Hostel , Metro Staff Quarters, Borivali for the employees and residents of the Metro Staff Quarters. some tests were provided free of costs like Blood Pressure(BP),Blood Sugar(HGT),Weight & Height, SPO2, ECG, as per Doctor's consultation.This event was organised by VBS, AIR, Borivali, Mumbai.

Forwarded By:- sushmasuradkar@gmail.com

GAYATRI YAGNA, CULTURAL PROGRAAMES AT DOORDARSHAN STAFF COLONY, BHUBANESWAR





A Pancha Kundiya “Gayatri Yagna” was organised by Doordarshan Staff Welfare Society in the campus of Staff Colony of Doordarshan Kendra, Bhubaneswar on 14.01.2019 on the auspicious day of “Makara Sankranti”. Bhumi Pujan was held on 12.01.2019 and Kalasha Yatra was organized on 13.01.2019 in which more than 50 nos. housewives of staff members went on a procession with Kalasha and collected holy water from a pond near to the Chandrasekhar Jew Shiv Mandir situated in the premises of OSAP 7 th Battalion Colony. A large numbers of devotees including family members of Staff of Doordarshan , CCW , NABM & AIR stationed at Bhubaneswar and retired employees of Doordarshan attended the Gayatri Yagna on 14.01.2019 . After the Gayatri Puja, Prasad was offered to all . In the evening of 14 th January, a colourful cultural programme was organised in which the children of Staff presented Solo Song , Dance , Skit etc.

Contributed by:-Shri.Pranabandhu Behera ,pbbehera60@gmail.com




गोरखनाथ मंदिर में खिचड़ी मेले का दूरदर्शन और रेडियो से सीधा प्रसारण

 मकर संक्रांति के अवसर पर गोरखनाथ मंदिर में आयोजित होने वाले मेले और अध्यात्मिक अनुष्ठान का दूरदर्शन और रेडियो द्वारा सीधा प्रसारण किया जाएगा। दूरदर्शन के केंद्राध्यक्ष राहुल सिंह ने बताया कि सीधे प्रसारण की व्यवस्था कर ली गई है। आकाशवाणी गोरखपुर की कार्यक्रम प्रमुख डॉ. अनामिका श्रीवास्तव ने बताया कि आकाशवाणी से खिचड़ी मेले का प्रसारण सुबह 7.30 से 10 बजे के बीच किया जाएगा। प्रसारण की कमेंट्री वह खुद और अभिजीत शुक्ल मिलकर करेंगे। सीधे प्रसारण के दौरान मेला और खिचड़ी के महात्म्य के विषय में प्रो. रामदेव शुक्ल और डॉ. रवींद्र श्रीवास्तव जुगानी बताएंगे। डॉ. अनामिका ने बताया कि पहली बार यह सीधा प्रसारण विविध भारती के चैनल से होने जा रहा है, जिससे लोग इसे अपने मोबाइल पर सुन सकेंगे। दूरदर्शन से कुंभ स्नान का भी होगा सीधा प्रसारण दूरदर्शन गोरखपुर के केंद्राध्यक्ष राहुल सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री के साक्षात्कार से पूर्व प्रयागराज में होने वाले कुंभ स्नान का सीधा प्रसारण गोरखपुर दूरदर्शन डीडी लखनऊ के माध्यम से करेगा। सीधे प्रसारण का समय सुबह छह से नौ बजे तक निर्धारित है। मंदिर परिसर में लगे एलईडी वाल और टीवी पर भी इसे देखा जा सकेगा। 
द्वारा अग्रेषित : झावेन्द्र कुमार ध्रुव ,jhavendra.dhruw@gmail.com

आकाशवाणी हजारीबाग:अब एसएमएस से सुनिए पसंद के गीत

हजारीबाग : रोचक अंदाज में कार्यक्रम प्रस्तुत करने के लिए मशहूर आकाशवाणी हजारीबाग शनिवार से एक नई पहल करने जा रहा है। अब हजारीबाग के श्रोता एसएमएम करके अपने पसंद के गीत सुन सकते है। कार्यक्रम का नाम है एसएमएस के बहाने गीत सुहाने। यह कार्यक्रम प्रत्येक शनिवार को रात्रि 9 बजकर तीस मिनट पर प्रसारित होगा। इस कर्यक्रम के संयोजक डॉ अभ्रो चौधरी और प्रस्तुतकर्ता अतुल प्रियदर्शन हैं। प्रस्तुतकर्ता ने बताया कि इस कर्यक्रम में भाग लेने का तरीका बहुत ही सहज है। श्रोता मोबाइल के मैसेज बॉक्स में जाकर पहले एचजेडबीजी टाइप करें, स्पेस दें, फिल्म का नाम लिखे फिर स्पेस देकर अपना नाम और पता लिखे और उसे भेज दे 53010 पर। कार्यक्रम के अंत में पांच फिल्मों के नाम प्रसारित किए जाएंगे। उन्ही फिल्मों से किसी फिल्म का चयन श्रोताओं को करना है। इस कार्यक्रम में प्रस्तुति सहयोग दिया है सूरज रजक ने। एसएमएस से पसंद के गीत कार्यक्रम को लेकर श्रोताओं में भी अच्छा उत्साह देखा जा रहा है। श्रोता बढ़ चढ़ कर एसएमएस कर रहे हैं।
स्त्रोत :- https://m.jagran.com/lite/jharkhand/hazaribagh-hazaribag-news-18839949.html
 
द्वारा अग्रेषित : झावेन्द्र कुमार ध्रुव ,jhavendra.dhruw@gmail.com



Tuesday, January 15, 2019

आकाशवाणी गोरखपुर के दो वरिष्ठ सदस्य सेवानिवृत्त ।



विगत 31 दिसम्बर 2018 को आकाशवाणी गोरखपुर के तकनीकी अनुभाग से वरिष्ठ तकनीशियन श्री बद्री प्रसाद तथा कार्यक्रम अनुभाग से कार्यक्रम अधिकारी श्री के. पी. कुशवाहा सेवानिवृत्त हो गए। इस अवसर पर आकाशवाणी के स्टूडियो परिसर में एक संयुक्त विदाई समारोह का आयोजन किया गया जिसमें केंद्राध्यक्ष श्री राहुल सिंह, उपनिदेशक (अभियांत्रिकी ), श्री आर. के. शुक्ला, सहायक निदेशक (अभियांत्रिकी), श्री विनय कुमार , श्री जी.सी.रॉय , श्री के.के.श्रीवास्तव), श्री एस. ए. खान सहित केंद्र के समस्त अधिकारी, कर्मचारी और सहयोगी उपस्थित थे। समारोह का संचालन सेवानिवृत वरिष्ठ उदघोषक श्री सर्वेश दूबे ने किया। प्रसार भारती परिवार अपने इन सदस्यों के रिटायरमेंट के बाद स्वस्थ एवं सानन्द जीवन की शुभकामनाएं व्यक्त कर रहा है।

प्रसार भारती परिवार उनको इस निवृत्ति पश्चात जीवन के लिए हार्दिक शुभकामनाए देती है। 

अगर कोई अपने ऑफिस से निवृत्त होने वाले कर्मचारी के बारे में कोई जानकारी ब्लॉग को भेजना चाहते है तो आप जानकारी pbparivar @gmail .com पर भेज सकते है।

 स्त्रोत-आकाशवाणी गोरखपुर फेसबुक पृष्ठ
द्वारा योगदान -प्रफुल्ल कुमार त्रिपाठी, लखनऊ।ईमेल;darshgrandpa@gmail.com

Pongal Celebration at AIR Coimbatore


Pongal Celebration at AIR Coimbatore on 14.1.2019

Forwarded by:- Coordination Coimbatore ,pexcocbe@gmail.com

Our bright children:D/O Vijoy Kumar,EA, DDK Patna won Bronze medal in All India Karate Championship-Republic Cup 2019


Daughter of Shri. Vijoy Kumar,EA, DDK Patna won Bronze medal in All India Karate Championship-Republic Cup 2019, in 12-13 age group category, held on 13.01.2019, at Patliputra Sports Complex, Patna.

It's a matter of pride for Prasar Bharati Parivar and it showers it's blessings on his bright daughter.

Any PB Parivar member can mail such achievements and photo of meritorious Children to pbparivar@gmail.com or for possible publication on this blog.

Source:-Facebook account of Vijoy Kumar

Inspiration - They Quit High-Paying Jobs for Organic Farming, Make Rs 30 Lakh Turnover per Month!

 
 The Hange brothers, who started on a small parcel of land, today practice organic farming on a 20-acre farm, making an annual turnover of Rs 3 crore!
Satyajit and Ajinka Hange grew up alternating between two very different worlds.
One was their Anglo-Indian boarding school in Pune city, and the other was their rural agrarian family, some 150 km away in Indapur taluka’s Bhodani village, where their father toiled in the fields to ensure they got the best education.

The monthly paycheck and lifestyle were cushy, but there wasn’t satisfaction or inner peace.
study in the city and return to your village to toil in the field!”

Speaking to The Better India, Satyajit recalls, “Early into our farming journey, we realised how chemicals fertilisers and pesticides were ruining the productivity of the soil by killing the rich microbes, and also affecting the quality of produce. In this time of crisis, the experienced workers and retired farmers within our village, along with the internet, became our teachers. Each of them reiterated how cow dung and urine could single-handedly ensure good soil health.”
Today, their customer base, in addition to hundreds of organic food enthusiasts, includes top business tycoons and A-listers from Bollywood.
The seeds are strictly heirloom, with no space for hybrid or genetically-modified varieties.
The first four years, they ran into losses.“It was a very difficult time. We had left our jobs and also turned the farming model around.
Soon, they distanced themselves from middlemen and retail chains and worked for their produce to reach their customer’s doorstep too.
Their farm has been vetted and certified by the global standards as a ‘100 per cent organic farm’ by the known French certification body, Ecocert.

 Two Canadians working on their field. While their food and accommodation are completely taken care of, they are asked to put in 3-5 hours of work every day. One of them helped the brothers set up an Instagram page,
 and an Italian couple taught them to make ricotta cheese from excess buttermilk. Today, this ricotta cheese made by trained village women is being sold as a processed item on their online and offline stores.
Their deliveries to over 250 households in Mumbai and Pune recently earned them greater customer loyalty,
They sign off, “There is a big conception in our own villages that children once educated shouldn’t turn to farming. We want to break this while promoting the cause of organic farming. Educated people can leave their jobs and turn farming into a profitable business too. All they require is the passion and the never-give-up attitude!”

Who would have thought two brothers who started farming with a bootstrap capital would become one of the first farmers in the state to directly export their organic produce to international locations like Australia, Dubai, USA, Canada, and Switzerland!

Monday, January 14, 2019

आकाशवाणी गोरखपुर ने किया मुशायरे का आयोजन ।



नव वर्ष के अवसर पर विगत दिनों को आकाशवाणी गोरखपुर के संगीत स्टूडियो में आमंत्रित श्रोताओं के समक्ष एक मुशायरे का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत में जनाब शाकिर अली शाकिर ने अपने कलाम... "शरारत में उसकी अपना बचपन देखता हूँ, जब मेरा बच्चा मेरे कंधे पर आकर बैठ जाता है"...से किया। तत्पश्चात, प्रतिक्रियात्मक सामाजिक परिवेश के वर्तमान दौर पर चोट करते हुए जनाब ख़ुर्शीद आलम ने... "एक फ़साना तेरा भी है मेरा भी, बोझल शाना तेरा भी है मेरा भी, सोच समझ कांटे बोना राहो में, आना जाना तेरा भी है मेरा भी"... सुनाया। मोहतरमा शाकिरा अस्मत की नज़्म... "दिल की गलियों में नई सुबह सजा दी जाये, बेल इशरत की हर एक गाम लगा दी जाये".. श्रोताओं को बहुत पसंद आई। इसके साथ ही मो. नदीमउल्लाह अब्बासी की नज्म..."कहीं जाता नहीं अब तेरे घर जाने के बाद, ज़ी मेरा लगता नही घर लौट आने के बाद, नाम चस्पा करके हो गया आज़ाद तू, मैं किसी का ना हो पाया तेरा कहलाने के बाद"... श्रोताओं के अंतस मन को छू गई।इसके पश्चात, आकाशवाणी गोरखपुर की कार्यक्रम प्रमुख डॉ. अनामिका श्रीवास्तव जी ने एक ग़ज़ल सुनाई... "क्यों छिपे हुए चलते हो, अच्छे दोस्त हो/हमसफ़र हो, साथ साथ चल सकते हो". अंत मे मो.फर्रुख जमाल ने... "दूर हो जाये तो तन्हाई का डर लगता है, हो मेरे साथ तो खुशबू का सफर लगता है"... सुनाई। निज़ामत मो. फर्रुख जमाल ने किया।
इस अवसर पर केंद्र की कार्यक्रम प्रमुख डॉ. अनामिका श्रीवास्तव जी ने कहा कि आकाशवाणी गोरखपुर समय समय पर साहित्यिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करता रहा है, आज का यह मुशायरे का आयोजन उसी क्रम की एक कड़ी है। इस आयोजन को सफल बनाने में केंद्र के कार्यक्रम, अभियांत्रिकी और प्रशासनिक अनुभाग के कर्मचारियों का सहयोग रहा।

द्वारा योगदान :-अजीत कुमार राय, आकाशवाणी गोरखपुर,ajitrai17@gmail.com

PB Parivar Blog Membership Form