Prasar Bharati

“India’s Public Service Broadcaster”

Pageviews

KEY MEMBERS – AB MATHUR, ABHAY KUMAR PADHI, A. RAJAGOPAL, AR SHEIKH, ANIMESH CHAKRABORTY, BB PANDIT, BRIG. RETD. VAM HUSSAIN, CBS MAURYA, CH RANGA RAO,Dr. A. SURYA PRAKASH,DHIRANJAN MALVEY, DK GUPTA, DP SINGH, D RAY, HD RAMLAL, HR SINGH, JAWHAR SIRCAR,K N YADAV,LD MANDLOI, MOHAN SINGH,MUKESH SHARMA, N.A.KHAN,NS GANESAN, OR NIAZEE, P MOHANADOSS,PV Krishnamoorthy, Rafeeq Masoodi,RC BHATNAGAR, RG DASTIDAR,R K BUDHRAJA, R VIDYASAGAR, RAKESH SRIVASTAVA,SK AGGARWAL, S.S.BINDRA, S. RAMACHANDRAN YOGENDER PAL, SHARAD C KHASGIWAL,YUVRAJ BAJAJ. PLEASE JOIN BY FILLING THE FORM GIVEN AT THE BOTTOM.

Monday, February 18, 2019

C.P Rajasekharan(71), former Station Director of All India Radio, Mangalore and Kozhikode expires





C.P Rajasekharan(71),a former a Station Director of All India Radio, Mangalore and Kozhikode, breathed his last in a private hospital in Thrissur, Kerala,today morning. A multi- faceted personality, who carved a niche for himself in broadcasting with his mesmerizing voice,he had won several honours including Kerala Sahitya Academy award for drama,Kerala Sangeeth Nataka Academy award for broadcasting and Akashvani Annual Awards. He authored about 20 books and hundreds of light songs.After retirement, he became the founding editor of the Malayalam daily, Suprabhatham. He lent voices and directed several radio and professional plays. 

Hailing from Paravur,near Kochi, he started his career as a staff announcer in AIR,Thrissur and later became a Programme Executive, selected by UPSC. He also served as Deputy Director in Doordarshan Kendra's, including Shillong and Thiruvananthapuram .He had directed several documentary films too. Known popularly as CPR,he is survived by his wife C.M.Shylajadevi,a former staff announcer,and two daughters.

Prasar Bharati Parivar condoles the demise of Shri C.P Rajasekharan and prays for the peace of the departed soul.


Source : D Pradeep Kumar

Obituary:Satyabhama Ghube, former UDC of AIR Pune is no more.



Mrs Satybhama Ghube ,former UDC of AIR Pune left this world for her heavenly abode yesterday at Nagpur. She was 62 years old.Very cooperative and always active in social programmes ,Mrs Ghube was very popular among collegues. She had taken voluntarily retirement in Sept. 2013.She is survived by her a son and daughter,both are married and her husband.

Prasar Bharati Parivar condoles the sad demise Mrs Satybhama Ghube and prays for the peace of the departed soul.

Source : Dilip Palde, Head Clerk ,AIR Pune.

आकाशवाणी बिलासपुर केन्द्र द्वारा रेडियो किसान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन

Love is in the airwaves: Still ‘Radio Ga Ga’ in Nagaland


Despite its wide reach to listeners in all corners of the world, many believe that radio is also one of the fastest dying forms of communication media today. The radio has this unique ability to communicate with any section of people, irrespective of class, creed, colour, wealth or even educational qualifications. Across the globe, Feb. 13 is celebrated as World Radio Day.

In Nagaland, the All India Radio (AIR) still manages to play an active role in bridging communication gap in spite of sweeping changes wrought by technology. It still manages to find relevance. According to the news editor of AIR Kohima, Asonuo, even though the studios and machineries at the AIR centre in Nagaland are all digitised, many are not acquainted with the available technology. “The people should make use of these modern technologies; even the employees of AIR should adapt and accustom themselves in using them if we want to advance forward,” she said. The reach of the programmes from Kohima go as far as parts of Assam, Arunachal Pradesh and parts of Manipur, and not just ‘the rural parts of Nagaland,’ she asserted. “I don’t think radio is dying; we reach up to the grassroots across the region and radio has many listeners in all parts of the country,” Asonuo said. Hailing Prime Minister Narendra Modi’s radio segment ‘Mann Ki Baat’ as the most popular as he interacts with the citizens of the country, she said that the emphasis is on local dialects since most listeners are from the rural areas of the state. “For the news segment we have 16 bulletins, out of which 14 are in local dialects and 2 regional bulletins in Nagamese and English,” she informed.

While acknowledging that AIR’s objective in Nagaland is to provide information and entertainment, Asonuo maintained that the team also tries to ‘keep intact the cultural identity and history of the state.’ Some programmes prove to be more popular than others, and especially after the introduction of FM Tragopan in 2017, the number of listeners are increasing by the day due to the clarity and reach, according to Asonuo. ‘The Bosti manuhar karne’ programme under the farm and home segment is mainly for rural listeners in primetime, which is very popular as it educates and informs rural Nagaland about central and state schemes, she informed. Even women and health issues are addressed during the programme, which is all done in Nagamese. “The reason why FM is different from any primary channel is because the content of the programme is varied and flexible,” she said.

Bendang Jamir, who has been working with AIR Mokokchung as an announcer for the past five- and-half years said that many in Nagaland still “rely on radio” for information. “During important issues (sic) such as the last ULB elections, it was the radio that reached to the corners of the state to make people aware about what was happening,” he said, and cited other examples about decimation of information on social issues. “We have the capability to reach out to certain listeners such as people who can’t read and by this medium we can educate and give a better idea about certain issues we are facing in the state,” Jamir maintained. He agreed that the age of radio as we know might appear to be dying; but also felt that with the upgrade in technology, platforms like internet radio and the likes can still help in sustaining this medium.

According to www.prasarbharati.gov.in, a public service broadcaster in the country, AIR is one of the largest broadcasting organisation in the world in terms of number of languages of broadcast and the spectrum of socio-economic and cultural diversity it serves. “AIR comprises of 470 broadcasting centres across the country, covering 92% of the countries area and 99.19% of the total population, terrestrially originating in 23 languages and 179 dialects across the country,” it informed.

Source and Credit :- http://www.easternmirrornagaland.com/love-is-in-the-airwaves-still-radio-ga-ga-in-nagaland/
Forwarded by :- Shri. Alokesh Gupta
alokeshgupta@gmail.com

Golden jubilee of AIR, Dibrugarh observed


Deepak Joshi, Deputy Director General, Prasar Bharati, spoke on the subject, ‘Broadcasting on the new vistas: Challenged and Opportunities’ on the second day of the three-day long closing ceremony of the golden jubilee celebrations of All India Radio (AIR), Dibrugarh on Thursday. He spoke at length on social media and its benefits with regard to broadcasting. The closing ceremony of the year-long golden jubilee celebration of All India Radio, Dibrugarh got underway on Wednesday at the premises of AIR Dibrugarh. The ceremony began with a conference of the retired and working AIR officials. Several retired officers, star broadcasters of yesteryears and employees participated in this ‘Milan Samaroh’ conference.

Former Station Director of AIR, Dibrugarh and Guwahati, Lutfur Rahman took part in the conference and exhorted the new generation to work hard to be good broadcasters. Station Director of AIR Guwahati, Dilip Kr. Das; former Station Directors of AIR, Guwahati, Dinesh Das, Surya Das, and retired officers; and employees from engineering and administrative sections of AIR Dibrugarh also took part in the conference. Veteran broadcasters of yesteryears shared their varied experience of working in AIR, Dibrugarh with the audience and listeners.

In the beginning of the conference, the golden jubilee closing ceremony light was lit by former ADG, Prasar Bharati, NE and now consultant, Deben Basumatary. All the retired officers and employees were greeted with a memento and gamosa. The ‘Milan Samaroh’ programme was beautifully anchored by Rupjyoti Duwara, senior announcer of the station.

Programme Head of AIR Dibrugarh, Lohit Chandra Deka delivered the vote of thanks to all the officials. In the evening, a folk and tribal cultural programme was organized with artists from different parts of Assam. AIR Dibrugarh station was established on February 15, 1969. In the journey of 50 long years, Akashbani Dibrugarh has earned a lot of laurels at the national level. The station has served the purposes of the people of Upper Assam, Arunachal Pradesh and a part of Nagaland.

Source and Credit :- https://www.sentinelassam.com/news/golden-jubilee-of-air-dibrugarh-observed/                                                        Forwarded by :- Shri. Alokesh Gupta
alokeshgupta@gmail.com

आकाशवाणी मथुरा द्वारा रेडियो किसान दिवस का आयोजन


आज संस्कृति यूनिवर्सिटी और आकाशवाणी मथुरा द्वारा रेडियो किसान दिवस का आयोजन विश्वविद्यालय के सभागार में किया गया। इसमें मुख्य अतिथि पद्मश्री के लिए नामित दीदी Sudevi ने मथुरा जिले के किसानों से कहा कि ब्रज क्षेत्र में गाय का विशेष महत्व है। भगवान श्रीकृष्ण के काल से ही यहां गौपालन को महत्व मिलता रहा है। अफसोस की बात है कि आज किसान गाय की तभी तक सेवा करते हैं जब तक वह दूध देती है, यह उचित नहीं है। किसान भाइयों गाय धार्मिक ही नहीं व्यावसायिक दृष्टि से भी बहुत महत्वपूर्ण है। गाय का दूध ही नहीं इसका गोबर और मूत्र किसी औषधि से कम नहीं है। दीदी Sudevi ने कहा कि मैं सरकार से आग्रह करूंगी कि वह गौपालन को न केवल बढ़ावा दे बल्कि किसानों को इसके लिए प्रेरित और प्रोत्साहित भी करे।

रेडियो किसान दिवस पर वक्ताओं ने साझा किए अपने विचार
इस अवसर पर कुलाधिपति सचिन गुप्ता ने कहा कि आकाशवाणी मथुरा और संस्कृति यूनिवर्सिटी रेडियो किसान दिवस के माध्यम से ब्रज के किसानों और छात्र-छात्राओं को एक नई दिशा देने का ही प्रयास है। उम्मीद है कि इससे सभी को लाभ मिलेगा। भविष्य में विश्वविद्यालय प्रयोगशाला स्थापित कर किसानों की मिट्टी की सेहत जांचने की व्यवस्था करेगा। श्री गुप्ता ने कहा कि ब्रज, ब्रज के बच्चे एवं किसानों के समग्र विकास के लिए संस्कृति यूनिवर्सिटी हरसम्भव प्रयास करेगी।

संस्कृति यूनिवर्सिटी और आकाशवाणी मथुरा के प्रयासों को किसानों ने सराहा
कार्यक्रम प्रमुख सर्वेश कुमार ने किसानों और कृषि संकाय के छात्र-छात्राओं को रेडियो दिवस की उपयोगिता के विषय में जानकारी दी। इस अवसर पर किसानों को बताया गया कि सूचना एवं मनोरंजन का सबसे सस्ता और सरल माध्यम रेडियो ही है। रेडियो और किसान का संबंध बहुत पुराना है। रेडियो दिवस के अवसर पर 250 से अधिक महिला और पुरुष किसानों को खेती किसानी की आधुनिकतम तकनीक, मिट्टी की उर्वरा शक्ति बढ़ाने, गौपालन, बकरी पालन सहित सरकार द्वारा दी जा रही सुविधाओं आदि की जानकारी दी गई।

नगला उदैया, हाथरस निवासी डा. धर्मेन्द्र कुमार सिंह ने किसानों को व्यावसायिक गौपालन से होने वाले लाभों की विस्तार से जानकारी दी। डा. सिंह ने प्रगतिशील गौ पालन के अपने अनुभव भी किसानों को बताए। डा. के.के. सारस्वत ने किसानों को सेक्ससेल तकनीक की जानकारी देते हुए कहा कि किसान पशुपालन के माध्यम से अपनी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ कर सकते हैं। युवा कृषि व्यवसायी अंकित गुप्ता ने आई.सी.टी. और कृषि के व्यावसायीकरण के बारे में विस्तार से जानकारी दी। डा. ब्रजमोहन ने पॉली हाउस खेती की ब्रज में सम्भावना पर प्रकाश डाला। श्री सत्यवीर सिंह ने किसानों को बताया कि वह कैसे उर्वरक और लागत में कमी लाकर कृषि को लाभ का व्यवसाय बना सकते हैं। जिला उद्यान अधिकारी मथुरा डा. जगदीश चंद्र ने उद्यान विभाग की योजनाओं को विस्तार से समझाते हुए कहा कि किसान भाई बागवानी के माध्यम से अपनी स्थिति सहजता से सुधार सकते हैं।

प्रधान वैज्ञानिक डा. एस.के. दुबे ने कहा कि छाता तहसील क्षेत्र में मिट्टी एवं जल संरक्षण की स्थिति संतोषजनक नहीं है, यही वजह है कि यहां का किसान परेशान है। डा. दुबे ने कहा कि सरकार और किसानों के प्रयासों से यहां की मिट्टी को उपजाऊ बनाने के साथ ही क्षेत्रवासियों को खारे पानी से निजात दिलाई जा सकती है। प्रधान वैज्ञानिक सी.आई.एल.जी. मखदूम डा. अशोक कुमार ने बकरी पालन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हमारे देश में 34 प्रजातियों की कोई साढ़े 13 करोड़ बकरियां हैं। उन्होंने कहा कि बकरी पालन सबसे लाभदायी धंधा हो सकता है बशर्ते किसान इनका बड़ी संख्या में पालन करें। डा. अशोक कुमार ने कहा कि बकरी का दूध मां के दूध की ही तरह बच्चों का पौष्टिक आहार है। इस अवसर पर किसानों को रबी की फसल की पैदावार बढ़ाने, सफेद मक्खी के प्रकोप से फसलों को बचाने की जानकारी भी दी गई।

संस्कृति यूनिवर्सिटी के कुलपति डा. राणा सिंह ने किसानों को बताया कि वह किस तरह बाजार में अपनी उपज का सही लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इससे पूर्व कार्यक्रम का उद्घाटन कुलाधिपति सचिन गुप्ता, कार्यक्रम की मुख्य अतिथि दीदी सुदेवी, कार्यक्रम प्रमुख सर्वेश कुमार, ओ.एस.डी. मीनाक्षी शर्मा आदि द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्पार्चन और दीप प्रज्वलित कर किया गया। श्री सत्यव्रत सिंह ने विस्तार से केन्द्र की गतिविधियों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन आकाशवाणी के कार्यक्रम अधिकारी सत्यव्रत सिंह ने किया। धन्यवाद ज्ञापन आकाशवाणी के कार्यक्रम प्रमुख सर्वेश कुमार ने किया।

स्त्रोत :- http://legendnews.in/farmers-for-cow-urine-and-cow-dung-cow-padmashree-sudevi/?fbclid=IwAR3LltlmlfZvcNtYKSdWsVlkrPfUfNCO8YbRZfj3tjtfaVN93-8Cd_HCppcद्वारा अग्रेषित :- श्री. झावेन्द्र कुमार ध्रुव
jhavendra.dhruw@gmail.com

'रेडियो : कल, आज और कल' विषय पर गोष्ठी का आयोजन भोपाल में


रेडियो ने अभी तक लंबा और महत्वपूर्ण सफर तय किया है और वर्तमान समय में भी संचार माध्यम के रूप में रेडियो की प्रासंगिकता बनी हुई है। आज के दौर में भी रेडियो लोगों के बीच जागरूकता फैलाने का सबसे बेहतर माध्यम है। रेडियो एक ऐसा माध्यम है जिसकी भौगोलिक रूप से देश के 99 प्रतिशत हिस्से में पहुंच है और इसने देश के सामाजिक विकास और परिवर्तन में महत्वूपर्ण भूमिका निभाया है। ये बातें मध्य प्रदेश ‘माध्यम’ में ओएसडी श्री पुष्पेंद्र पाल सिंह ने पीआईबी, शोध पत्रिका ‘समागम’ एवं पब्लिक रिलेशंस सोसायटी, भोपाल के संयुक्त तत्वावधान में 16 फरवरी 2019 (शनिवार) को पीआईबी के सभागार में 'रेडियोः कल, आज और कल' विषय पर आयोजित कार्यक्रम में कही।

उन्होंने कहा कि रेडियो बहुत ही सस्ता, सुगम और सरल माध्यम है। श्री सिंह ने कहा कि समय के साथ रेडियो का दौर भी बदलता रहा और जब कभी भी यह लगा कि रेडियो अब तो बीते दिनों की बात हो जाएगी, तभी रेडियो एक नए अवतार में सामने आया और अपनी प्रासंगिकता साबित की। उन्होंने कहा कि कम्यूनिटी रेडियो एक लोकतांत्रिक रेडियो है और इसके जरिए लोग अपनी भाषा में अपनी बात अपने लोगों के बीच कह रहे हैं। कार्यक्रम में सबसे पहले पुलवामा हमले में शहीद हुए वीर जवानों को मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। शोध पत्रिका समागम के संपादक श्री मनोज कुमार ने कहा कि रेडियो का भविष्य उज्ज्वल है। उन्होंने कहा कि आज का दौर कम्यूनिटी रेडियो का दौर है और मध्य प्रदेश में मौजूदा दौर में 9 कम्यूनिटी रेडियो स्टेशन काम कर रहे हैं और जनता के बीच विकासपरक पत्रकारिता को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होंने इस बात जोर दिया कि रेडियो प्रसारण में भाषा की सौम्यता बनी रहनी चाहिए। बिग एम की रेडियो जॉकी अनादि ने कहा कि आज के एफएम रेडियो पर मार्केट का दबाव काफी अधिक है। सच कहें तो आज के एफएम के दौर में 20 फीसदी रेडियो है और 80 फीसदी मार्केट है। पर इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि युवाओं में एफएम चैनल्स काफी लोकप्रिय हैं। उन्होंने कहा कि आज के रेडियो कार्यक्रमों में फन का एलिमेंट ज्यादा है।

भारतीय सूचना सेवा के पूर्व अधिकारी श्री विनोद नागर ने आकाशवाणी समाचार में बिताए अपने दिनों को याद किया और कहा कि रेडियो राष्ट्रीय अस्मिता का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि रेडियो ने लोगों को सूचना देने, शिक्षित करने और मनोरंजन करने में काफी महत्वूर्ण भूमिका अदा की है। उन्होंने रेडियो के बारे में कई रोचक तथ्य भी लोगों के साथ शेयर किए। पीआईबी, भोपाल के उप निदेशक श्री अखिल कुमार नामदेव ने कहा कि रेडियो की पहुंच अन्य संचार माध्यमों की तुलना में ज्यादा है। यही वजह है कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपनी ‘मन की बात’ कहने के लिए रेडियो (आकाशवाणी) को ही माध्यम चुना। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में श्रोताओं ने हिस्सेदारी की और अपने प्रश्नों के द्वारा अपनी जिज्ञासाओं को शांत किया।

स्त्रोत :- पीआईबी मध्यप्रदेश (फेसबुक अकाउंट से)

द्वारा अग्रेषित :- श्री. झावेन्द्र कुमार ध्रुव,रायपुर

KISAN DIVAS celebration at AIR SATARA




KISAN DIVAS was celebrated on 15 February 2019 at Dhamner a small village in koregaon tehsil by AIR SATARA.

Dr. Vikram Kad addressed farmers on value addition of agricultural produce, while Dr. Shrimant Rathod gave valuable guidance on subject related to drip irrigation and soil health. Sh. Sunil Borkar (Dist. Agril. Su pdt.) was the chief guest .Sh. Sachin Prabhune (Pex) intially addressed the farmers regarding scope of the  programme. Sh. Indrajit Bagal (ADP) presided over the function. All farmers gave overwhelming response to the function and applauded AIR SATARA.

All staff of AIR SATARA contributed to make the function successful.   
                          

Maiden broadcast of ‘Hello Moginand’ aired


“Hello Moginand” is the new All-India Radio destination developed by the Nahan-based Government Senior Secondary School, Moginand, for airing educational as well as social awareness programmes. Being the state’s first and country’s sixth educational radio station, a group of 14 students, led by science lecturer Sanjeev Attri, has been instrumental in securing a 24-hour slot on the AIR’s Shimla station. The maiden broadcast of 8.51 minutes on the theme “Radio Aaj Aur Kal” was aired today where a Class XII students Jyoti and Abhishek, Class XI student Sunil and Class X students Saloni, Kalpana and Aimen aired views, along with centre director Attri. The feat has been achieved with the technical support of Mumbai-based RD Broadcasting Limited. Having 30-year experience in teaching, Attri wanted to harness the energy of children in productive sphere. Attri was an accreditated director with the Ministry of Culture as he had produced several films on cultural themes like traditional dances of Solan and Kinnaur. He wanted to expose the children towards the working of radio station and was on lookout for something unique.

An app, Radio Hello Moginand, has also been developed which will help students getting access to class lessons as well as a variety of entertainment and knowledgeable programmes. A make-shift studio has been set up in the school with the help of unused articles to record daily programmes where varied subjects, including places of religious interest, will be chosen. School Principal Rajesh Solanki said students were excited at the launch of this venture and Attri had aptly trained 14 students for this. Sharing his experience on this new innovation, Attri said it had helped to channel the energy of children who did not fare well in academics and were rather naughty. They had shown exemplary results in preparing the radio programmes. While the first production had taken over four hours, the team was now preparing various themes on which this radio could be fed for 24-hours.

Initiative of teacher, 14 students
Being the state's first and country's sixth educational radio station, a group of 14 students, led by science lecturer Sanjeev Attri, has been instrumental in securing a 24-hour slot on the AIR's Shimla station. An app, Radio Hello Moginand, has also been developed. It will help students getting access to classroom lessons as well as a variety of knowledgeable programmes. 

Source and Credit :- https://www.tribuneindia.com/news/himachal/maiden-broadcast-of-hello-moginand-aired/729360.html
Forwarded by :- Shri. Alokesh Gupta
alokeshgupta@gmail.com

Musical series on Jayachamaraja Wadiyar on All India Radio


All India Radio (AIR), Mysuru, is broadcasting a musical series on Sri Jayachamaraja Wadiyar as part of his birth centenary titled ‘Sri Vidya Visharada Sri Jayachamaraja Wadiyar Vaibhava.’ The series will feature 94 rare compositions of the last ruler of Mysore, who penned the compositions in the pen name ‘Sri Vidya’ where Jayachamaraja Wadiyar’s musical journey will be highlighted.  

Speaking to Star of Mysore, here this morning, AIR, Mysuru, Programme Executive S. Subramanya said, “The 94 rare compositions of Sri Jayachamaraja Wadiyar is a tribute to the Mysuru ruler during his birth centenary year. We have already started the programme from last week and the half-an-hour tribute will be aired every Friday at 8.30 am and it will be repeated on Sundays at 4.30 pm.” The script for the musical series is written by Vidwan Najnjundaswamy and the musical part is by AIR Music Composer G. Pushpalatha, he said. 

Pramoda Devi Wadiyar, wife of late Srikanta Datta Narasimharaja Wadiyar, is sponsoring the programme. She told Star of Mysore that it is her tribute to her late father-in-law Sri Jayachamaraja Wadiyar who was a musical genius as he had composed these 94 rare compositions. “I am really delighted that AIR, Mysuru is paying a tribute to Sri Jayachamaraja Wadiyar during his birth centenary year. His birth anniversary falls on July 18 and the musical series culminate on his birthday,” she said.

Source and Credit :- https://starofmysore.com/musical-series-on-jayachamaraja-wadiyar-on-all-india-radio/amp/ 
Forwarded by :- Shri. Jhavendra Kumar Dhruw 
jhavendra.dhruw@gmail.com


Sunday, February 17, 2019

आकाशवाणी रायगढ ने मनाया रेडियो किसान दिवस..


रायगढ। पुसौर के बोरोडीपा में आयोजित रेडियो किसान दिवस के अवसर पर पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद वीर जवानों को श्रृद्वा सुमन अर्पित कर उन्हें नमन किया गया। यहां पूरे ब्लाॅक के दर्जनों किसान मौजूद थे। इस दौरान वैज्ञानिकों व कृषि विशेषज्ञों ने किसानों को उन्नत तकनीक की जानकारी दी। इस कार्यक्रम में जनपद सीईओ द्वारा प्रदेष के चार चिंहारी नरूवा, गरूवा, घुरूवा और बारी कार्यक्रम की जानकारी दी गई।
आकाशवाणी का किसानवाणी प्रभाग किसानों की आय दोगुनी करने की थीम पर काम रहा है। इसके लिए रेडियो के माध्यम से नए-नए तरीके बताए जाते है और विशेषज्ञों द्वारा जानकारी भी दी जाती है। साथ ही उन्नतशील किसानों के अनुभव को भी रेडियो में प्रसारण के माध्यम से साझा किया जाता है। इसी कडी में शुक्रवार को पुसौर ब्लाॅक के बोरोडीपा में रेडियो किसान दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  दरअसल हर साल 15 फरवरी को आकाशवाणी द्वारा रेडियो किसान दिवस का आयेाजन किया जाता है। इसके लिए जिले के किसी ऐसे गांव का चयन किया जाता है जहां आम लोगों की पहुंच से दूर होती है। इस साल यह आयोजन पुसौर में किया गयाा।  इसके पहले मां भारती की तैल चि़त्र पर माल्यार्पण कर पूजा अर्चना की गई और कार्यक्रम शुभारंभ किया गया। इस दौरान किसानवाणी के कंपीयरों द्वारा मां शारदे की वंदना की गई। इसके बाद किसानवाणी प्रभाग के प्रभारी अधिकारी शशि प्रकाश पांडेय ने इस दिवस का उददेश्य और थीम की जानकारी दी। इस कार्यक्रम में उददघोषक रमाषंकर शुक्ला, किसानवाणी प्रभाग के कंपीयर मुकेश चतुर्वेदी, स्वतंत्र महंत, रामविलास पटेल, दिलीप चैधरी, वेणुधर पटेल, चवल पटेल, सुशील प्रधान मौजूद थे। 
कार्यक्रम में उपस्थित पशु चिकित्सक डाॅ चंद्रशेखर पटेल ने पषु संवर्धन और संतुलित पशु आहार की जानकारी किसानों को दी। पुसौर एरिया में पषुपालकों की संख्या ज्यादा है। ऐसे में यह जानकारी उनके लिए वरदान साबित होगा। कृषि विज्ञान केंद्र के सीनियर मृदा वैज्ञानिक डाॅ एसपी सिंह द्वारा अम्लीय होते मिटटी पर चिंता व्यक्त की गई और उसके सुधार के उपाए बताए। कृषि विज्ञान केंद्र के ही पादप रोग के सीनियर वैज्ञानिक डाॅ अजीत कुमार सिंह ने फसल विविधिकरण के बारेे में जानकारी दी।  जनपद सीईओ नितेष उपाध्याय ने प्रदेश के चार चिंहारी नरूवा, गरूवा, घुरूवा और बारी की जानकारी देते हुए प्रदेष सरकार की प्राथमिकता के बारे में जानकारी दिया। पुसौर बीएमओ डाॅ बीके चंद्रवंषी ने क्षय रोग व कुष्ठ रोग से जिले को मुक्त करने के लिए सामूहिक प्रयास की जरूरत बताई। इस कार्यक्रम में किसानों ने भी अपना अनुभव साझा किया। इसमें प्रगतिशील कन्हैया राठिया, लक्ष्मण पटेल, गौरीशंकर पटेल, अनंत राम साव, जयप्रकाष प्रधान, मुरलीधर देवागंन, मुरारी म्हाणा समेत अन्य किसान शमिल थे। साथ ही मत्स्य निरीक्षक व्हीके सक्सेना, ग्रामीण उ़द्यान विस्तार अधिकारी भुवनेश्वर पटेल, घरघोडा एडीओ अगरचंद गबेल, एसडीओ कृषि हरीष कुमार राठौर, आरईओ छर्राटांगर शिवचरण दिवाकर, फकीरचंद साव समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे। 
योगदान—शशि प्रकाश,कार्यक्रम अधिकारी,आकाशवाणी रायगढ
ब्लॉग रिपोर्ट—प्रवीण नागदिवे, ARU,आकाशवाणी मुम्बई

Commissioning of 100 KW MW Transmitter at AIR Jeypore , Odisha



On 16 th Feb'19 100 KW digital ready MW Transmitter was commissioned by Sri R.Ghosh Dastidar, ADG (EZ) ,AIR & DD at AIR Jeypore in presence of Sri P.P. Pal, DDG (E), Sri A K Dey, DDG (E), Sri S.M.T. Alam DE (P) , Sri K K Ghosh ADE & Installation Officer, Sri J.K.Panda, HOP, Sri L.Chakraborty HOE, AIR Jeypore.

Installation Team: K K Ghosh, I.O. Dristi Kalidas Mondale,Sr.Tech, Sri K Pramanik, Sr.Tech, I. Bhattacharya, Sr. Tech, Sri U. Karfa & Sri Basant Kumar Tech.

आकाशवाणी खंडवा द्वारा मनाया गया रेडियो किसान दिवस ...


आकाशवाणी खंडवा द्वारा प्रतिवर्ष की अपनी परंपरा निभाते  हुये इस वर्ष रेडियो किसान दिवस 15 फरवरी 2019 को खण्डवा जिले के  ग्राम  मोंरटक्का माफी मैं मनाया गया । कार्यक्रम की  शुरुआत में  जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद सेना के जवानो को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई।  इस कार्यक्रम मैं आकाशवाणी खंडवा के केंद्र अध्यक्ष श्री संजीव कुमार श्रीवास्तव ने किसानों से
रेडियो के किसान वाणी कार्यक्रम के द्वारा जो जानकारी दी जाती है उसका खेती में ज्यादा से ज्यादा प्रयोग कर लाभ लेने की सलाह दी साथ ही रेडियो ट्रांस्मीटर की  पावर 10 किलोवाट हो  जाने से प्रसारण क्वालिटी और रेंज बडने की  बात  कही। इस अवसर पर  कार्यक्रम प्रमुख श्री संतोष अग्निहोत्री ने कार्यक्रमों में परिवर्तन करने और श्रोताओं की अपेक्षा अनुसार कार्यक्रम प्रसारित करने की बात कही ।  
रेडियो किसान दिवस के अवसर पर किसानवाणी  प्रभारी श्री असीम कैथवास ने किसानों को संबोधित किया और कृषि की उन्नत तकनीकी अपनाकर लागत कम करें और आय दोगुना करने पर जोर दिया,  कपास अनुसंधान केंद्र खंडवा के वैज्ञानिक श्री सतीश परसाई ने  कपास की उन्नत खेती के लिए किसानों को तकनीकी की जानकारी दी। कृषि अधिकारी श्री बिनुसिंह चौमलके ने किसानों को मिट्टी परीक्षण के महत्व को बताया और ज्यादा से ज्यादा मिट्टी परीक्षण कराने के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया इसके साथ पशु चिकित्सक डा राजेश प्रधान ने दुधारू पशुओं का पालन करने के  साथ ही  पशुओं के टीकाकरण के लिए किसानों से अनुरोध किया।
  कार्यक्रम में ग्राम मोंरटक्का माफी के प्रगतिशील कृषक श्री जगन्नाथ पटेल और अंतिम पटेल ने अपनी खेती के अनुभव किसानों से साझा किया । कार्यक्रम का विशेष आकर्षण रहा "प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम " जिसके अन्तर्गत किसानों से खेती और निमाड़ी संस्कृति से संबंधित रोचक प्रश्न पूछे गये और सही जवाब देने वाले किसान भाई बहनो को सम्मानित किया साथ पुरस्कार भी दिये गये,  कार्यक्रम को समनुदेशिती श्री निमिष भंसाली ने बहुत ही शानदार निमाड़ी अंदाज में प्रस्तुत कर  सबको प्रसन्न कर दिया।  
इस अवसर पर आसपास के किसानों के साथ-साथ रेडियो के श्रोता भी शामिल हुए। रेडियो किसान दिवस कार्यक्रम का संचालन किसानवाणी समनुदेशिती श्री अखिलेश बरोले और श्रीमती प्रणीता जैन ने किया।
इस कार्यक्रम का प्रसारण आकाशवाणी खण्डवा के किसानवाणी कार्यक्रम में दिनांक  16 और 18 फरवरी 2019 को  शाम 7.30 बजे  किया  जायेगा।
Source-Aseem Kaithwas, AIR Khandwa
Blog Report- Praveen Nagdive, AIR Mumbai

Radio Kisan Diwas celebration at KVK Ambheti by AIR Daman





Radio Kisan Diwas  celebration at Krishi Vigyan Kendra Ambheti  by AIR Daman on 15.02.2019.

Radio Kisan Diwas celebration at KVK Talsandi by AIR Kolhapur





Radio Kisan Diwas 2019 celebration at Krishi Vigyan KendraTalsandi by AIR Kolhapur on 15.02.2019.

Radio Kisan Divas Akashvani Mangalore




आकाशवाणी बांसवाड़ा द्वारा रेडियो किसान दिवस का समारोह पूर्वक आयोजन किया गया।





आज दिनांक 15 फरवरी 2019 को दोपहर 12.00 बजे से घाटोल तहसील की ग्राम पंचायत अमरथून में आकाशवाणी द्वारा प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी रेडियो किसान दिवस का समारोह पूर्वक आयोजन किया गया। जिसमें अधिकाधिक संख्या में किसान भाई - बहनों नें भाग लेकर कार्यक्रम को सफल बनाया । कार्यक्रम में आये अतिथियों तथा विषेशज्ञों नें कृषि क्षेत्र में आमदनी बढ़ानें, जैविक खेती, फसलो में कीट नियंत्रण, जलवायु परिवर्तन, नाबार्ड एवं सरकार द्वारा संचालित योजनाओं एवं सौर उर्जा के उपयोग के बारे में  जानकारी दी।

कार्यक्रम की शुरूआत लोक कलाकारों द्वारा गणेश वन्दना एवं स्वागत गान द्वारा की गई। कार्यक्रम के आरम्भ में केन्द्राध्यक्ष सतीष देपाल ने किसानों और रेडियो के समन्वय के बारे में बताया कि कृषि उन्नत तकनीक का रेडियो द्वारा कैसे उपयोग किया जाता है ।

इस अवसर पर दन्त चिकित्सक डाॅ. प्रषान्त कोठारी ने तम्बाकू, गुटखा तथा खैनी से होने वाले गम्भीर रोगों से किसानों को सावधानी बरतने एवं जागरूक रहने की अपील की। तत्पश्चात् नाबार्ड बैंक के जिला विकास अधिकारी सुभाष जैन नें किसान क्रेडिट कार्ड, नाबार्ड डेयरी योजना तथा नाबार्ड द्वारा देय अनुदानांे के बारे में जानकारी प्रदान की। कृषि विज्ञान केन्द्र, बोरवट से आई कृषि वैज्ञानिक रष्मि दवे बताया की प्रचुर मात्रा में पैदा होने वाली सोयाबीन से क्या-क्या फायदे है तथा उनका उपयोग कैसे किया जाता है। उन्होने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में आसानी से उपलब्ध सोयाबीन को कैसे प्रसंस्कृत कर कुपोषण से बचा जा सकता है।

आर.के. वर्मा, उपनिदेशक आत्मा परियोजना कृषि विभाग बांसवाड़ा नें जलवायु परिवर्तन के दुष्परिणामों से अवगत कराते हुए बताया कि आने वाले समय में इससे फसल उत्पादन पर क्या प्रभाव पड़ेगा। श्री वर्मा ने जैविक खेती पर जोर देते हुए कहा कि जैविक उर्वरकों का प्रयोग करने से क्या-क्या फायदे हैं। प्रकृति द्वारा उपलब्ध संसाधनो को केवल किसान ही बचा सकता है और उसका सदुपयोग कर उत्पादन भी बढ़ाया जा सकता है। कृषि विज्ञान केन्द्र बोरवट के निदेषक एच.एल. बुगालिया नें कृषि के साथ पशुपालन द्वारा वर्ष 2022 तक किसानों को आय दोगुनी करने का सुझाव दिया ।

उपनिदेषक कृषि विस्ताार भुरालाल पाटीदार ने बताया कि खेत की मिट्टी की शुद्धता के लिए मृदा स्वास्थ्या कार्ड क्यूँ जरूरी है और उसके क्या-क्या फायदे हैं। उन्होने बताया कि पानी की एक-एक बँूद उपयोगी है और इस के लिए कृषि विभाग द्वारा देय अनुदानों का लाभ उठाकर ड्रिप सिंचाई पद्धति का उपयोग किया जा सकता है।

कृषि अनुसंधान केन्द्र के कीट वैज्ञानिक श्री आर.के. कल्याण ने रसायनिक दवाइयों के कुप्रभावों से किसान भाईयों को अवगत कराते हुए बताया की बिना रसायनिक दवाइयों के परम्परागत संसाधनों से भी खाद तैयार कर अधिक लाभ ले सकते है। पशु पालन विभाग से आये श्री राजेश नाबार्डे ने पशुपालन की विभिन्न योजनाओं, दुग्ध उत्पादन तथा पशुओं में खुरपका-.मुहपका टीकाकरण के बारे में जानकारी प्रदान की ।

कार्यक्रम के संयोजक आकाशवाणी बांसवाड़ा के प्रसारण अधिकारी श्री धीरेन्द्र सिंह शांक्यवंशी ने बताया कि आकाशवाणी प्रतिदिन किसानवाणी कार्यक्रम में कृषि विषेषज्ञों तथा प्रगतिषील किसानों द्वारा कृषि के उन्नत तरीको को किसानों के मध्य प्रसारित कर लोक प्रसारक की अपनी भूमिका का भलीभाँति निर्वहन कर रहा है। श्री शांक्यवंशी नें बताया की रेडियो प्रचार प्रसार का सबसे सशक्त,सुगम,सुलभ तथा सस्ता माध्यम है। साथ ही साथ आनलाईन कृषि पोर्टलो के बारे में किसान भाईयों को अवगत कराया। कार्यक्रम के अन्त में आकाषवाणी केन्द्र के कार्यक्रम प्रमुख महेन्द्र कुमार मीणा नें अतिथियों का आभार व्यक्त करतें हुए बताया की समन्वित खेती द्वारा किसान भाई अधिकाधिक लाभ उठा सकतें है। श्री मीणा नें षिक्षा के प्रचार-प्रसार की महत्ता बताते हुए प्रत्येक किसान को अपने बच्चो को साक्षर करने पर जोर दिया। प्रगतिशील कृषक कालूराम चरपोटा नें अपनी सफलता की कहानी किसान भाईयो से साझा की। कार्यक्रम का संचालन लोक कलाकार श्री जयसिंह दायमा द्वारा किया गया। आकाशवाणी द्वारा आयोजित रेडियो किसान दिवस समारोह कि रेडियो रिपोर्ट का प्रसारण आज रात्रि 09 बजकर 30 मिनट पर आकाशवाणी के बांसवाड़ा केन्द्र से किया जायेगा।

द्वारा योगदान :-श्री  महेन्द्र कुमार मीणा,कार्यक्रम प्रमुख।

Radio Kisan Divas Akashvani Leh



World Radio Day Celebration at AIR Dharampuri




World Radio Day was celebrated in Kaarimangalam Women's college and Shri.R.Murali Programme Head, AIR FM LRS Dharmapuri shared his broadcasting experience of three decades and opportunities for the youth in FM Broadcasting and it enthused the students. AIR LRS DHARMAPURI broadcast a live programme with the long time listeners at Dharmapuri Bazaar road in the weekly Road Show at 3 pm on World Radio Day.

Forwarded by:- PEX AIR DHARMAPURI ,airdpiprog@gmail.com

आकाशवाणी छिंदवाड़ा द्वारा 15 फरवरी 2019 को रेडियो किसान दिवस मनाया गया




आकाशवाणी छिंदवाड़ा द्वारा 15 फरवरी 2019 को रेडियो किसान दिवस मनाया गया इस वर्ष का विषय था 'कृषि के साथ पशुपालन की अनिवार्यता' शहीदों को श्रद्धांजलि देने के साथ कार्यक्रम की शुरुआत हुई इस अवसर पर बड़ी संख्या में किसानों ने भाग लिया और अपनी शंकाओं का समाधान किया और उपस्थित विशेषज्ञों ने किसान भाइयों को इस विषय पर जानकारी दी और कृषि के साथ साथ पशु पालन करने हेतु प्रेरित किया इस अवसर पर आकाशवाणी छिंदवाड़ा के कार्यक्रम प्रमुख श्री बी एस डेहरिया जी रेडियो कृषि अधिकारी जयंत उमरेकर प्रसारण अधिकारी प्रवीण चौरे कार्यक्रम सचिव डोले जी और तकनीकी सहयोग के लिए राधे श्याम पवार जी और कृष्णा जौंजार जी उपस्थित रहे

Saturday, February 16, 2019

AIR Godhra celebrated kisan Diwas on 15-02-19







AIR Godhra celebrated kisan Diwas by inviting about 100 farmers from Panchmahals, Mahasagar and Dahod district.After Prog. Head Dr. Geeta Gida welcomed them all the experts gave them guidance in different fields. Dr. kanakalata Director KVK, vejalpur,Mr A. K. Singh scientist of KVK, Dr. Manivel Director Aromatic and Medicinal plants Research Centre, Mr Manish Patel, Head of Maize Training Institute, Mrs Inamdar of Farmers Training centre interacted with the farmers.All the farmers were given saplings of kesar mango. Head of office Mr. Hemendra Ajaria gave brief introduction of Godhra station. The sammelan concluded over lunch with the satisfaction on the part of farmers/experts.

Forwarded by:-Shri Hemendra Ajaria,airgodhra@gmail.com

PB Parivar Blog Membership Form